How to Check Adulteration in Milk & Milk Products ? दूध और दूध से बने पदार्थों में मिलावट

5.1. जहरीले फार्मलीन की मिलावट दूध में (Formalin Adulteration in Milk):



फोर्मलिन की मिलावट दूध में 
जाँच प्रक्रिया :
  • लगभग 10 मिलीलीटर दूध एक परखनली में ले और उसमे 5 मिलीलीटर सान्द्र सल्फुरिक अम्ल डाले। 
  • यदि बैगनी या नीले रंग का छल्ला, दो परत को अलग करे तो उसमे फोर्मलिन मिला हुआ है। 


मिलावटी तत्व: फार्मलीन केमिकल 

मिलावट का कारण: दूध जल्दी न ख़राब हो। 


स्वाश्थ हानि : जलन और कैंसर 

१-परिरक्षक फार्मलीन,२- फार्मलीन की जाँच  
5.2. घातक यूरिआ की पहचान दूध में:

मिलावट का स्रोत और उदेश्य: यूरिया आसानी से एग्रीकल्चर स्टोर पर मिल जाता हैं।  दुध के प्रोटीन की मात्रा टेस्टिंग में अधिक आये इसलिए उसमें यूरिआ मिलते हैं।क्युकि प्रोटीन की मात्रा जिस विधि से निकलते हैं उसमें नाइट्रोजन की मात्रा निकाल के कैलकुलेट करते हैं  यूरिया में नाइट्रोजन होता हैं जो टेस्टिंग में प्रोटीन की गलत कैलकुलेशन करवाता है। 
स्वास्थ पर दुस्प्रभाव:  फेफड़े पर दुष्प्रभाव हृदय रोग लिवर रोग.
  • एक पूरा चम्मच (लगभग २ मिली० ) दुध एक परखनली में ले। 
  • उसमें आधा चम्मच सोयाबीन या अरहर का पाउडर मिलाये। 
  • हिला के उन्हें अच्छे से मिलाये।
  • मिनट के बाद लाल लिटमस पेपर उससे भिगोये और 30 सेकंड के बाद लिटमस पेपर को निकल कर देख.
  • यदि लिटमस पेपर लाल से नीला हो जाये तो उसमें यूरिया मिला हुआ है।
5.2. मिलावटी स्टार्च की पहचान (Adulteration of Starch in Milk) :  
मिलावट का स्रोत और उदेश्य: स्टार्च आसानी से किराना स्टोर पर मिल जाता है/ स्टार्च के मिलावट से दुध गाढ़ा हो जाता हैं जिससे गलत फ़हमी हों जाती है की दुध अच्छी क्वालिटी का हैं।

स्वास्थ पर दुस्प्रभाव : दाँतो को नुक्सान ज्यादा स्टार्च खाने से मोटापा धन का नुकसान।  
  • एक पूरा चम्मच (लगभग २ मिली० ) दुध एक परखनली में ले। 
  • उसमें २-५ बूंद आयोडीन का घोल डाले। 
  • कुछ ही छड़ में यदि नीला रंग दिखाई दे तो उसमें स्टार्च मिला हुआ हैं।
  • आयोडीन आप के नजदीकि मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाता हैं। 

5.3. ज्यादा पानी की पहचान दूध में (Adulteration of water in Milk): 

नुकसान / स्वाश्थ पर प्रभाव : धन का नुक़सान , गंदे पानी द्वरा बीमारी मिलावटी तत्व : पानी 
जाँच प्रक्रिया:
  • एक बूँद दुग्ध एक झुकें हुए सतह पर गिराये जैसा कि चित्र में दिखाया गया है 
  • दुग्ध कि बूंद निचे ढलते हुये यदि धिरे धिरे ढलती है और एक सफ़ेद चिन्ह छोड़ती है तो दुग्ध शुद्ध है 
  • अगर उसमे पानी मिला होगा तो बहूत तेजी से ढलेगी और कम सफ़ेद चिन्ह छोडेगी। 

5.4. वनस्पति तेल की पहचान दूध में और उसका स्वास्थ पर प्रभाव (Adulteration of Vegetable oil in Milk):
स्वास्थ हानि : कोलेस्ट्रोल बढ़नामधूमेहधमनी रोग धन कि हानि। 
मिलावट का श्रोत और कारण : वनस्पति तेल / वनस्पति तेल मिलाने से वसा की मात्रा बढ़ जाती जिससे दूध अच्छी क्वालिटी का प्रतित होता हैं। 
  • लगभग ३ मिलि ० दूध एक परखनली में ले। 
  • उसमें १० बून्द हीड्रोक्लोरिक एसिड मिलाए और उसमें एक चम्मच चीनी घोले। 
  • मिनट के बाद देखें।
  • यदि लाल रंग दिखें तो उसमे वनस्पति का तेल मिला हुआ हैं।
  •  

    Coal Tar Dye ( कोल् तार डाई ) की जांच देशी घी में - p -Phynylenediamine

     देशी घी और मक्खन में मिलावट की जांच (टेस्टिंग)

    Health Effect (स्वास्थ हानिकारक ) -



    Experiment No-१  .........................................................................................................

  •  5 मिली लीटर अम्ल (H2SO4 or HCL acid) एक चम्मच घी में डाले 

  • अच्छे से हिलाये 
  • यदि H2SO4 के साथ गुलाबी रंग (Pink color) और HCL के साथ चटक लाल कलर आए तो  देसी घी  में  कोल् तार डाई मिला हुआ है 

Experiment No-2 .........................................................................................................

उबला हुए आलू (की जांच देशी घी  में )

१- एक चम्मच देशी घी ले कर उसमे 4 -5 बून्द आयोडीन डाले 
२-  यदि नीला रंग आये तो उसमे उबला हुआ आलू  
( mashed potato ) मिला हुआ है 

चित्र -मिलावटी घी बनाते हुए

                               चित्र -उबला हुआ आलू (Mashed Potato )                                      

  चित्र -देशी घी 





Experiment No-3.........................................................................................................

 देशी घी में वनष्पति घी की मिलावट की जांच (टेस्टिंग ) 

१- एक परखनली  या शीशे के  पतले गिलास में एक चम्मच घी डाले
२- फिर उसमे उतना ही HCl (हाइड्रोक्लोरिक अम्ल ) डाले
३- एक चुटकी चीनी डालें और एक मिनट तक हिलाये
४- यदि क्रिमसन कलर (कटक लाल रंग ) दिखाई दे तो उसमे वनाशपति घी या मार्जरीन की मिलावट है